Saturday, October 17, 2020 at 12:32 PM

महागठबंधन का संयुक्त घोषणा पत्र जारी,इंटरव्यू में जाने के लिए अभ्यर्थियों को किराया भी दिया जाएगा— तेजस्वी

RUPESH RANJAN SINHA

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर महागठबंधन में शामिल दलों ने संयुक्त घोषणा पत्र जारी कर दिया है। इसको लेकर आयोजित प्रेस वार्ता में नेता प्रतिपक्ष व अलायंस के नेता तेजस्वी यादव ने ‘प्रण हमारा संकल्प बदलाव का’ टैग लाइन के साथ घोषणापत्र की मुख्य बातें मीडिया से साझा कीं। इस मौके पर तेजस्वी ने बिहारवासियों को नवरात्रि की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि नवरात्रि का पहला दिन है और आज हम लोग कलश का स्थापना कर संकल्प लेते हैं। हमने भी अपने घर में कलश की स्थापना की है और संकल्प लिया है।’प्रण हमारा संकल्प बदलाव का’ ये सच होने वाला है।

हमने संकल्प लिया है कि अगर हमारी सरकार बनती है तो हम पहली कैबिनेट में पहली कलम से 10 लाख लोगों को नौकरी देंगे। तेजस्वी यादव ने यह ऐलान भी किया कि इंटरव्यू में जाने के लिए अभ्यर्थियों को किराया भी दिया जाएगा। इसके साथ ही कर्पूरी श्रम केंद्र पूरे देश मे खोलेंगे। नियोजित शिक्षकों को समान काम समान वेतन देंगे। पुल पुलिया पूरे बिहार में दुरुस्त करेंगे। हमारी सरकार ने तय किया था बिहटा में एयरपोर्ट बनेगा। बिजली के क्षेत्र में बिहार में उतना उत्पादन नहीं है, बिजली खरीद कर सरकार बेचती है, लेकिन हमारा जोर उत्पादन पर होगा। तेजस्वी ने कहा कि किसानों के कृषि ऋण माफ करेंगे।

जीविका दीदी को नियमित वेतन और राशि बढ़ाएंगे। बंद चीनी मिलों को खोलेंगे। बेरोजगारी दूर करने की दिशा में कदम बढ़ाएंगे। अब तक बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिला है, इसके लिए संघर्ष करेंगे। उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प तो अमेरिका से आकर बिहार को तो विशेष राज्य का दर्जा नहीं दे देंगे। तेजस्वी ने कहा कि लोग वेतनमान को लेकर सरकार से बेहद नाराज हैं। नीतीश सरकार के कार्यकाल में बिहार में 60 घोटाले हुए हैं। चारों ओर भ्रष्ट्राचार है, लॉ एंड ऑर्डर खराब है। मुझे पूरा विश्वास है कि जो बिहार की जनता के सामने हम लोगों ने जो संकल्प लिया है उसपर जनता विचार करेगी।

इस मौके पर भाकपा माले के शशि ने कहा कि लाखों की संख्या में आशा बहने जीविका दीदी समेत उन तमाम संविदा पर बहाल लोगों को स्थायी करने की पहल की जाएगी और उन्हें नियमित वेतन दिया जाएगा। गरीबों को उजाड़ा नहीं जाएगा। बिहार में हाथरस जैसी घटना नहीं होगी। नीतीश जी के कैबिनेट में मुजफ्फरपुर जैसे बालिका गृह कांड के आरोपी बैठते हैं, हमारे में ऐसा नहीं होगा।

वहीं, सीपीआई के राम बाबू कुमार ने कहा कि ये इतिहास के कोर्स कनेक्शन का चुनाव है। बिहार की जनता ने तो 2015 में ही एनडिए की सरकार को बाहर कर दिया था। मै समझता हूं तेजस्वी यादव जी के नेतृत्व में हम लोग नई बिहार बनायेंगे। सीपीएम के अरुण मिश्रा ने कहा कि नीतीश कुमार ने उम्दा तरीके से भाजपा के लिये बिहार में जमीन तैयार की है।

loading...
Loading...