CBI में घमासान: अपनी ही एजेंसी के खिलाफ कोर्ट पहुंचे देवेंद्र कुमार

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के शीर्ष अधिकारियों के बीच घमासान जारी है। सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना से जुड़े रिश्वतखोरी के आरोपों के सिलसिले में गिरफ्तार पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र कुमार ने दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। देवेंद्र की याचिका पर दोपहर 2 बजे सुनवाई हो सकती है।

देवेंद्र कुमार मीट कारोबारी मोईन कुरैशी के खिलाफ चल रहे मामले में जांच अधिकारी थे। उन्‍हें सतीश सना के बयान दर्ज करने में जालसाजी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। रविवार को सीबीआई ने कार्यालय तथा आवास पर छापे मारे थे। छापेमारी में देवेंद्र कुमार के दफ्तर से करीब 8 मोबाइल बरामद किए गए थे।

बता दें कि सीबीआई ने मांस निर्यातक मोईन कुरैशी मामले में रिश्वत के आरोपों में अस्थाना, कुमार तथा कुछ अन्य लोगों के खिलाफ हाल ही में प्राथमिकी दर्ज की है। आरोप है कि इन्होंने मामले को कमजोर करने के लिये रिश्वत ली थी। कुमार इस मामले में पहले जांच अधिकारी रह चुके हैं।

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि कुमार को मोईन कुरैशी मामले में एक गवाह सतीश सना के बयान में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है। उनके अनुसार, यह बताया गया कि सतीश सना का बयान गत 26 सितंबर को अस्थाना के नेतृत्व में एक जांच दल ने दिल्ली में दर्ज किया था, लेकिन एजेंसी की जांच में सामने आया है कि इस दिन सतीश सना हैदराबाद में था। वास्तव में वह एक अक्टूबर को दिल्ली में जांच प्रक्रिया में शामिल हुआ था।

=>