सम्पन्न हुआ सरस्वती संगीत का सुरीला कुंभ

लखनऊ ! सरस्वती संगीत अकादमी की ओर से दो दिवसीय 15वां सरस्वती महोत्सव एवं सरस्वती सम्मान समारोह मंगलवार को गोमती नगर स्थित संगीत नाटक अकादमी के संत गाडगे ऑडिटोरियम में सम्पन्न हो गया। इस संध्या की यह खासियत रहीं कि इसमें छोटे बच्चों से लेकर युवा और विवाहित महिलाओं व वरिष्ट नागरिकों ने उत्साह के साथ भाग लियाए वहीं इसमें शास्त्रीय , लोक और फिल्मी तीनों अंगों का गुलदस्ता पेश किया गया। इसमें देशभक्ति संग वंदना और सूफी रंग तक परवान चढ़ा।

सम्मानित हुए विशिष्ट जन

इस भव्य समारोह में मुख्य अतिथि न्यायमूर्ति शबीहुल हसनैन रहे। संस्थापिका राधारानी शुक्ल और संस्था के प्रबंध निदेशक डॉण्श्रीकांत शुक्ल एवं वरिष्ठ प्रबन्धक ऋषिकांत शुक्ला की उपस्थिति में सम्मान समारोह में वरिष्ठ पत्रकार राजनाथ सिंह सूर्यए वरिष्ठ तबला वादक पंडित मदन मोहन उपाध्यायए चार्टर्ड एकाउंटेंट मृदुल अग्रवालए वरिष्ठ गायिका पद्मा गिडवानी , वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ बीबी अग्रवाल और समाजसेवी अरुण अग्रवाल को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत अपने अनोखे अंदाज में हुई। इसमें वाद्यों के माध्यम से राष्ट्रगीत पेश किया गया। इसमें अभिसार सेठ और ऋत्विज मिश्रा ने कीबोर्डए मयंक रस्तोगी ने गिटार स्वरित किया।

मां सरस्वती वंदना से शुरू हुई गायन सरिता

गायन की श्रृंखला ऋचा शुक्ला के निर्देशन में जय मां सरस्वती की सामूहिक वंदना जय मां सरस्वती भवानी . श्वेता वर्माए अंजली श्रीवास्तवए आभा श्रीवास्तवए डाण्रश्मि दुबेए रीना राजपूतए संध्या कुमारीए देवांश शर्माए चिन्मय अग्रवालए आदित्य वैश्यए आनंद लालवानीए काव्या नंदनए प्रगति चतुर्वेदीए प्रतिमा त्रिपाठीए आराध्या सिंहए आकाश गुप्ताए अभिषेक कुमार ने गायन पक्ष संभाला। मयंक रस्तोगी ने गिटार और सुन्दर बहादुर ने कीबोर्ड पर संगत दी। छाप तिलक सब छीन ली मोसे नैना मिलइ के लोकप्रिय रचना को प्रगति चतुर्वेदीए प्रतिमा त्रिपाठीए आराध्या सिंह और डाण्रश्मि दुबे ने पेश किया। इस क्रम को आगे बढ़ाते हुए केसरिया बालम गीत उषा सिंहए नीना रामचंद्रए ऋतु सिंहए नैना चंद्राए नंदनी मिश्रा और अर्जिता मिश्रा ने पेश किया। पिंगा गा पोरी गीत अर्जिता मिश्रा और नंदनी मिश्रा ने सुनाया। माई तेरी चुनरिया गीत देवांश शर्मा ने सुनाया वहीं गिटार पर मयंक रस्तोगी ने संगत दी। है अपना दिल तो आवारा फिल्मी गीत आकर्ष चन्द्रा ने सुनाया। उनके साथ कीबोर्ड पर सूजल पाण्डेय और देवांश व्यास ने वायलिन पर गाते हुए संगत दी।

कथक से लेकर बॉलीवुड डांस तक बना आकर्षण

नृत्य की श्रृंखला आरती शुक्ला के निर्देशन में श्वेता वर्मा और ज्योति कुमारी के कथक नृत्य के बाद नमामी गंगे नृत्य प्रस्तुति में ऋद्धिमा त्रिपाठीए दिशारी माईलीए वैष्णवी अवस्थीए वैष्णवी सक्सेनाए समीक्षा सिंहए धान्या स्नेहलए एमण्जीण्प्रीतिए जिज्ञासा लालवानीए निशी सिंह राठौर और इशाना स्रोत्रीया ने भाग लिया। बोलो हर हर समूह नृत्य में तनिशा मिश्राए संचिता मिश्राए उज़िशा मिश्राए श्रुति शर्माए स्मृति शर्माए स्वाति यादवए निखिता यादवए हितिए इशानि गुप्ता और अदिति मौर्या ने भाग लिया। अलबेला सजन गीत पर विनीता पांडेयए आशिका बिन्दए भवना आनंदए सारिका गुप्ता ने अपनी तैयारी का सुंदर प्रदर्शन किया। हौरर रक्त चरित रचना पर अंजलीए अमिशी कटियारए सना शर्माए तमन्नाए अनामिकाए रिदीमा त्रिपाठीए सारवी पाण्डेयए सानवी पासीए लाची गुप्ताए हर्षिता रजनीश और आयूषी सिंह ने समूह नृत्य किया। द्रुपद कथक समूह नृत्य में आरती शुक्लाए श्वेता वर्माए ज्योति कुमारी ने पेश किया। इसके अलावा मंगल पाण्डेय समूह नृत्य में अंजलि सिंहए अनामिका रावतए तमन्नाए अगम्या वर्माए आयुषी सिंहए हर्षिताए अमिशी कटियारए रिद्धिमा त्रिपाठीए संगिनी केसरवानीए जाह्नवी वर्माए निहारिका श्रीवास्तवए वैष्णवी सक्सेना ने मधुर नृत्य पेश किया।

वाद्यों पर सजे लोकप्रिय गीत

ये रातें ये मौसम नदी की किनारा लोकप्रिय गीत श्रेया भल्लमुंडी और अभिसार सेठ ने कीबोर्ड पर बजाया तो लोगों ने तालियां बजाकर उनका इस्तकबाल किया। इसी क्रम में देखते देखते गीत कुशल गौतम ने कीबोर्डए अथर्व पाण्डेय और वरुण हेगड़े ने गिटार पर स्वरित किया। आ चल के तुझे गीत बलवंत सिंहए जगदीश लाल श्रीवास्तव और आनंद कुमार श्रीवास्तव ने कीबोर्ड पर सुनाया वहीं पापा कहते हैं लोकप्रिय बॉलीवुड सांग एमण्आरण्गोपाल ने कीबोर्ड और एमजी प्रणव और विदित सैनी ने गिटार पर बजाया।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com