गन्ना पर्चियों के समय से न मिलने पर किसान परेशान

पाली।हरदोई- गन्ना पर्चियों और सट्टा अपडेशन की समस्या को लेकर इलाके के गन्ना किसान चीनी मिल और गन्ना समिति रुपापुर के अधिकारियों के हाथो की कठपुतली बनकर रह गए हैं।मालूम हो कि प्रदेश की योगी सरकार ने गन्ना माफियाओ को मात देने के उद्देश्य से सट्टा नीति में परिवर्तन कर गन्ना सर्वे का काम चीनी मिलो से छीन कर गन्ना समितियों को सौप दिया था लेकिन काम चोरी के आदी हो चुके अधिक तर गन्ना पर्यवेक्षको ने गन्ना सर्वे का कार्य चीनी मिल के सुपरवाइज़रो से कराया। जिससे बडे पैमाने पर सर्वे कार्य में लीपापोती कर गन्ना पर्यवेक्षको को सौप कर अपने कर्त्तव्यो की इति कर ली, जिससे क्षेत्र के पुराने समिति सदस्यों का कम सर्वे दर्शाया गया तो किसी का बगैर गन्ने के ही गन्ना सर्वे कर सट्टा फिडिंग करा दिया गया। वही पुराने खाते धारकों का कम सर्वे दर्शाने से 37 पर्चीओ की जगह मात्र 7 पर्चियां ही कैलंडर मे दिखाई गयी। इन सब समस्याओं से जूझ रहे गन्ना किसान समाधान के लिए रोज दर्जनो गन्ना किसान गन्ना समिति और चीनी मिल के बीच की कठपुतली की तरह महीनो से चक्कर काट रहे है। वही अधिकारी उनको टरका रहे है। इस सम्बन्ध में जब समिति के सचिव बृजबहादुर से जब बात की गयी तो उन्होने बताया कि जल्द ही गन्ना किसानों की सारी समस्याओं का हल कर दिया जायेगा।
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper