पीएम नहीं चाहते कि CBI कुछ मामलों की जांच करे: कांग्रेस

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय कमिटी के CBI चीफ आलोक वर्मा को हटाए जाने को लेकर कांग्रेस ने सवाल खड़ा कर दिया है। कांग्रेस ने कहा की प्रधानमंत्री को क्या घबराहट है? पार्टी ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी जांच से डरे हुए हैं।

कांग्रेस का कहना है कि पीएम नहीं चाहते कि CBI कुछ मामलों की जांच करे। आलोक वर्मा को दोबारा पद से हटाए जाने को लेकर पार्टी ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस मामले का फैसला आने में 77 दिन लगे और आज एक दिन की भी राहत नहीं दी गई।

कांग्रेस ने कहा कि केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) की रिपोर्ट में अगर दम होता तो कोर्ट ने इसका संज्ञान लिया होता। कांग्रेस ने कहा कि सवाल CVC कि निष्पक्षता पर उठता है कि क्या वो मोदी सरकार के इशारे पर काम करते हैं। पार्टी ने कहा कि आज के फैसले से साबित होता है कि कमेटी ने न्याय नहीं किया।

कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री को क्या घबराहट है? CBI निदेशक को हटा कर अपने पसंद के अधिकारी को रखना चाहते हैं? कांग्रेस ने कहा इस घटनाक्रम में CVC अपनी विश्वसनीयता खो चुकी है।

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने भी इस मामले पर तीखी प्रतिक्रिया दी. साथ ही साथ उन्होंने राफेल घोटाले का भी जिक्र किया। राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने आलोक वर्मा के तबादले पर कहा, ‘कुछ गड़बड़ चल रही है, जिसमें जांच की जरूरत है। कांग्रेस पार्टी पहले ही इस पर आपत्ति जता चुकी है। इस सब के बारे में कुछ बहुत ही संदिग्ध है। कांग्रेस का कहना है कि पीएम नहीं चाहते कि CBI कुछ मामलों की जांच करे।

=>