पटनाबिहारब्रेकिंग न्यूज़मुजफ्फरपुरराष्ट्रीय

सुपारी था समधी और दामाद के भाई का , मारा गया कोई और -पटना पुलिस ने दो शूटर को किया गिरफ़्तार

 पुलिस ने इस्तेमाल देशी कट्टा और दो जिंदा कारतूस किया बरामद ,दो और अपराधियों के गिरफ्तारी के लिए पुलिस कर रही छापेमारी

>> पुत्री की खुदकुशी की घटना ने पिता को बना दिया साजिशकर्ता

>> खलिहान में पहरेदारी कर रहा किसान ने अपराधियों को लिया था पहचान

>> स्पीडी ट्रायल चलाकर ,दिलाया जाएगा सजा-सिटी एसपी

रवीश कुमार मणि
पटना ( अ सं ) । राजधानी के सिगोड़ी में खलिहान में पहरेदारी कर रहे किसान रामध्यान चौहान की ब्लाइंड हत्याकांड को पटना पुलिस ने सफल उद्भेदन कर लिया हैं और घटना में शामिल दो अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया हैं एवं इस्तेमाल देशी कट्टा एवं दो जिंदा कारतूस बरामद कर लिया हैं । सीटी एसपी ( पश्चिमी ) ने बताया की हत्या की हत्या की सुपारी ,बदले की भावना से नालंदा के साधु शरण चौहान ने अपने समधी राजकुमार चौहान एवं दामाद गुड्डू चौहान की हत्या के लिए दिया था लेकिन खलिहान में पहरेदारी कर रहे किसान ने चोरी की आशंका को लेकर अपराधियों को दबोच लिया ।इसपर अपराधियों ने किसान रामध्यान चौहान की हत्या कर दिया ।
     बीते 9 जनवरी को सिगोड़ी थाना क्षेत्र के सोहन बिगहा गांव में मारे गये किसान रामध्यान चौहान की हत्या को चार अपराधियों ने अंजाम दिया था। डीएसपी मनोज कुमार पांडे के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम लगातार इस घटना का उदभेदन एवं घटना में शामिल अपराधियों के गिरफ्तारी के पीछे जुटी थी। इसी क्रम में डीएसपी मनोज कुमार पांडे को सूचना मिली इस घटना को अंजाम नोनिया चक के जयराम चौहान ने दिया हैं ।  पुलिस ने छापेमारी कर जयराम चौहान को गिरफ्तार कर लिया ,इसके निशानदेही पर राजदयाल चौहान भी गिरफ्तार कर लिया गया ।पुलिस ने घटना में इस्तेमाल किया गया देशी कट्टा और दो जिंदा कारतूस बरामद कर लिया । पूछताछ हुई तो सारे बातें खुलकर सामने आ गयी ।

नालंदा के साधु शरण ने दिया था सुपारी

   नालंदा जिला निवासी साधुशरण चौहान ने अपनी पुत्री आरती की शादी सोहनबिगहा गांव निवासी राजकुमार चौहान के पुत्र बच्चू चौहान से किया था। आरती देवी ,फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इस मामले में सिगोड़ी थाना कांड संख्या 73 /18 दर्ज हुआ । इस मामले में पुलिस ने दो को दोषी पाते हुये जेल भेज दिया वहीं अन्य की संगलिप्ता नहीं पायी गयी । पुलिस के इस कार्रवाई को साधु शरण चौहान पर्याप्त नहीं समझा और बदले की भावना के तहत साजिश रचना शुरू कर दिया ।
       साधु शरण बदला को लेकर अपने समधी और दामाद के भाई की हत्या को लेकर नोनियाचक गांव निवासी बदमाश जयराम चौहान ,राज दयाल चौहान ,बिल्टू चौहान और संजय यादव को सुपारी दिया और स्वयं बीते 7 जनवरी से ही नोनियाचक में ठहर कर हर तरह के गतिविधियों पर नजर रखें था। अपराधियों को ऐसी खबर थी की राजकुमार चौहान और गुड्डू चौहान खलिहान में सोता हैं । चारों अपराधी नोनियाचक से चलकर सोहनबिगहा गांव स्थित उक्त खलिहान पहुंचे जहां राजकुमार और गुड्डू को तलाश किया तो नहीं मिला ।बगल के खलिहान में सोय रामध्यान चौहान को ऐसा लगा की धान की चोरी करने के लिए बदमाश आएं हुये हैं ।किसान रामध्यान ने राज दयाल चौहान को पीछे से पकड़ लिया और हल्ला करने लगे की हम तुम लोगों को पहचान लिये हैं ।इसी में पीछे से जय राम चौहान ने किसान रामध्यान को गोली मार दिया । जिससे मौके पर ही मौत हो गयी ।

स्पीडी ट्रायल चलाकर ,दिलाया जाएगा सजा

सीटी एसपी (पश्चिमी ) ने बताया की यह पुरी से ब्लाइंड केस था। पुलिस ने इसका उद्भेदन ही नहीं किया है बल्कि घटना में शामिल मुख्य आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया हैं ।जो अपराधी बचे है उन्हें भी जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश डीएसपी पालीगंज मनोज पांडे को दिया गया हैं ।
loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button