हाथरस

धर्मकांटा संचालक की हत्या का खुलासा : प्रेम प्रसंग के चलते की गई थी हत्या

हाथरस। थाना हाथरस गेट क्षेत्र के इगलास रोड स्थित एक धर्म कांटे पर धर्मकांटा संचालक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने एवं फांसी लगाकर आत्महत्या करने की घटना का आज थाना हाथरस गेट पुलिस द्वारा खुलासा किया गया है। खुलासा में पुलिस द्वारा बताया गया है कि घटना आत्महत्या नहीं थी, बल्कि प्रेम प्रसंग के चलते धर्मकांटा संचालक की हत्या की गई थी। पुलिस ने मृतक की पत्नी व उसके प्रेमी को गिरफ्तार किया है।
थाना हाथरस गेट पर आयोजित प्रेस वार्ता में घटना का खुलासा करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ वर्मा ने बताया कि गत 18 दिसंबर की रात्रि में अक्षय चौधरी उर्फ गुड्डू पुत्र रघुनाथ सिंह निवासी विजय लक्ष्मी धर्मकांटा इगलास रोड की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने की सूचना उसके भाई आलोक चौधरी द्वारा थाना पुलिस को दी गई थी, जिसमें मृतक द्वारा रात्रि में फांसी लगाकर आत्महत्या करने की बात कही गई थी। सूचना के आधार पर पुलिस द्वारा मृतक अक्षय चौधरी उर्फ गुड्डू के शव का पोस्टमार्टम कराया गया और पोस्टमार्टम में मृत्यु का कारण गला दबाकर हत्या करना आया था। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट व पंचायत नामा की जांच के आधार पर थाना हाथरस गेट पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस कप्तान सिद्धार्थ शंकर मीणा के निर्देश पर छानबीन कर घटना के खुलासे हेतु निर्देश दिए गए थे।
उन्होंने बताया कि थाना हाथरस गेट प्रभारी मनोज कुमार शर्मा को टीम बनाकर विवेचना व साक्ष्य संकलन के आधार पर घटना का खुलासा करने को कहा गया था। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उक्त घटना की विवेचना में साक्ष्य संकलन के आधार पर घटना में मृतक की पत्नी श्रीमती बाला व उसके प्रेमी राहुल का नाम प्रकाश में आया और आज उक्त दोनों को इगलास रोड बाईपास चौराहा से गिरफ्तार किया गया है। प्रेस वार्ता में अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूछताछ में दोनों आरोपियों ने जुर्म का इकबाल करते हुए स्वापी से गला दबाकर हत्या करना व लाश को छत पर लगे लोहे के पाइप में टांगने की बात बताई, ताकि हत्या को आत्महत्या का रूप दिया जा सके। पूछताछ में उन्होंने यह भी बताया कि मृतक से उसकी पत्नी बहुत परेशान थी और उसी बीच उसके संबंध दूर के रिश्तेदार राहुल पुत्र बच्चू सिंह निवासी सुहागपुर थाना नौझील जनपद मथुरा से हो गए। जिसकी जानकारी मृतक गुड्डू को होने पर उसने अपनी पत्नी को और अधिक परेशान करना शुरू कर दिया और दोनों ने मिलकर गुड्डू उर्फ अक्षय चौधरी की हत्या करदी।
एएसपी ने बताया कि पूछताछ में आरोपी राहुल अपनी प्रेमिका को नींद की 5 गोलियां लाकर देता था जिसे वह दूध मिलाकर अपने पति को देकर धर्मकांटा पर सुला देती थी तथा स्वयं राहुल के साथ अपने घर पर रहती थी। पुलिस ने आरोपी दोनों लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।
गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थाना प्रभारी मनोज कुमार शर्मा, एसआई सत्यपाल सिंह, सिपाही शीलेश यादव, शांतनु यादव, रामवीर सिंह, अमित कुमार व महिला सिपाही शालिनी शर्मा शामिल थे।

loading...
Loading...

Related Articles