उत्तर प्रदेश

लाकडाउन के दौरान इकठ्ठा हुई भीड़, पुलिस टीम पर जानलेवा हमला ,चौकी इंचार्ज और सिपाही की हालत गम्भीर

मुजफ्फरनगर। कोरोना वायरस के कहर के बीच किये गए लॉकडाउन के दौरान मुजफ्फरनगर के मोरना में इकट्ठा हुई भीड़ को समझाने पहुंची भोपा थाने की पुलिस पर ग्रामीणों ने लाठी और डंडों से हमला कर दिया। इस हमले एक दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए, जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया । दरोगा लेखराज और एक सिपाही रवि कुमार की गंभीर हालत देखते हुए उन्हें मेरठ के हायर सेंटर रेफर कर दिया गया । उधर, तीसरे सिपाही का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है ।

सीओ राम मोहन शर्मा ने बताया कि पुलिस अपनी ड्यूटी कर रही थी और बाहर घूम रहे लोगों को समझा रही थी कि बाहर मत घूमो । कुछ लोग भीड़ लगाए हुए खड़े थे । उनको समझाया गया, लेकिन वो नहीं माने और पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया । यह हमला पूर्व प्रधान और उनके समर्थकों ने किया । इसमें एक सिपाही और एक दरोगा गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जिन्हें मेरठ रेफर किया गया है । एक अन्य सिपाही भी घायल है जिसका उपचार जिला हॉस्पिटल में चल रहा है. अभी तक कोई गिरफ़्तारी नहीं हुई है । सभी लोग लाकडाउन तोड़ने की कोशिश कर रहे थे, इसीलिए उनको रोका जा रहा था ।

गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन तबलीगी जमात में शामिल लोगों की तलाश के लिए पुलिस सख्त नजर आ रही है । इसी क्रम में भोपा थाने की पुलिस लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराने के लिए गश्त पर थी । लेकिन जब पुलिस की टीम ने सड़क पर इकठ्ठा भीड़ को देखा तो उन्हें समझाने पहुंची । इसी बीच पूर्व प्रधान और उसके समर्थक भड़क गए । इसके बाद उन लोगों ने लाठी-डंडों से पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया. इस हमले में दरोगा लेखराज और सिपाही रवि कुमार को गंभीर चोटें आई हैं ।

loading...
Loading...

Related Articles