नारी व बाल जगतलाइफ स्टाइल

बढ़ती उम्र में थायराइड की वजह से महिलाओं में होते हैं ये बदलाओं..

महिलाओं में बढ़ती उम्र के साथ थायराइड की बीमारी ज्यादातर देखी गई है। ज्यादातार रजनोवृत्ति के समय ही महिलाओ में थायराइड की शिकायत पायी जाती है, क्योकि यह ऐसा समय है जब महिलाओ के शरीर में अलग अलग हार्मोन्स का स्त्राव होता है जिससे कई आंतरिक शारीरिक बदलाव आते है। सरल भाषा में समझा जाये तो अगर थायराइड ग्लैंड से हार्मोन का संतुलन बिगड़ जाये तो थायराइड की समस्या उत्पन्न हो जाती है।  शुरू शुरू में थायराइड का पता लगाना मुश्किल हो जाता है।  और अंत में  यह एक  नासूर बन जाता है।  ऐसे में अत्यंत आवश्यक है की शुरुवाती दौर में ही इस बीमारी का पता लगा लिया जाये।

इम्युनिटी सिस्टम कमजोर होना 

इम्म्युंटी या रोग प्रतिरोधक क्षमता जिसे आम भाषा में बीमारी से लड़ने की ताकत कहा जाता है  वह बहुत  कम  हो जाती है। याददाश्त  पर भी इसका असर देखने को मिलता है।  विचार शक्ति कम होने लगती है , कार्य करने की  समझ कम हो जाती है।  शरीर भी आलसी होने लगता है और हर वक़्त थकान महसूस होती रहती है। कोई भी साधारण सी बीमारी उन्हें  जल्दी लग जाती है।

नाख़ून आखे और बालो का अस्वस्थ्य होना

ऐसे माना जाता है की यह लक्षण ऐसे है जो सबसे पहले दिखाई देते है।  आखो  का लालपन , उनमे खुजली होना , सूजन चढ़ना इत्यादि।  नाखुनो में सफ़ेदपन आना , उनमे दरारे आ जाना उनका रुखा हो जाना और पतले होकर टूटने लगना। बालो का अस्वस्थ्य होकर झड़ने लगना

 कब्ज की समस्या

यूँ तो कब्ज किसी अन्य  कारन से भी हो सकता है लेकिन अगर नियमित ही आपको अपच हो , खाना खाया नहीं जा रहा है तो यह थायरॉइड के लक्षण है।  इसका सीधा असर आपके वजन पर दिखाई दे सकता है।

कमजोरी

दिन  भर ज्यादा काम न करने पर भी हमेशा थकान महसूस होना।  जल्दी से ही सास फूलना , कोई भी शारीरिक काम करने में तकलीफ होना ,या दिन भर आलस्य होना यह सब थायराइड(thyroid)के शुरुवाती लक्षण है।

मानसिक अवसाद
मानसिक अवसाद

ज्यादातर महिलाये थायराइड(thyroid )की बीमारी में अक्सर अवसाद में चली जाती है।  उनके शरीर में जो रासायनिक बदलाव होते है उसके कारन यह समस्या उत्पन्न हो ही जाती है।  जिसके चलते उनका कोई भी कार्य को करने का मन नहीं होता और वह अकेला महसूस करने लगती है। इतना ही नहीं आपकी याददाश्त पर भी इसका असर पड़ने लगता है।

अगर आपको इनमे से कोई लक्षण दिखाई दे तो आपको तुरंत ही  थायराइड(thyroid) परिक्षण करवा लेना चाहिए।  इस बारे में देर करने का अर्थ है सीधा अपनी जान जोखिम में डालना।

loading...
Loading...

Related Articles