Main Sliderउत्तर प्रदेश

74वें स्वतंत्रता दिवस पर योगी आदित्यनाथ ने विधान भवन प्रांगण में तिरंगा फहराते हुए कही ये बात….

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भी बड़े उल्लास के साथ मनाया गया 74वें स्वतंत्रता दिवस, कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लोग भले ही थे, लेकिन सरकारी भवनों की सजावट उसी प्रकार हुई जिस प्रकार हर बर होती थी, इससे लोगों की उमंग का पता चल रहा है।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजभवन, उत्तर प्रदेश में झंडरोहण किया जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान भवन प्रांगण में तिरंगा फहराया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विधान भवन मुख्य द्वार पर ध्वजारोहण किया।

ध्वजारोहण के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज ही के दिन 1947 में हमें स्वाधीनता प्राप्त हुई थी। उन्होंने कहा कि आज हम सब के पास अवसर है तो कोविड -19 जैसी त्रासदी भी है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में जिस प्रकार की योजना तैयार हुई, उसका परिणाम है भारत सुरक्षित और संतोषजनक स्थिति में पाता है। इसके खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए कोरोना योद्धाओं पुलिस, सफाई कर्मी अफसर, डॉक्टर्स का हृदय से अभिनंदन करता हूं। इन सभी ने आदर्श सेवा का भाव से कार्य किया।

आज देश 74वां स्वाधीनता दिवस मना रहा है। अब हमको इससे भी बेहतर क्या प्रयास हो सकता है उस पर प्रयास करना। हमने प्रदेश में एक लाख 70 हजार करोड़ की लागत से 80 करोड़ लोगों तक नि:शुल्क खाद्यान योजना शुरू की। सरकार 18 करोड़ लोगों यूपी में मार्च से अब तक पर्याप्त खाद्यान उपलब्ध करा रही है।

कोरोना महामारी में भी हमारी मशीनरी ने पूरी लगन से गरीब, बेरोजगार तथा मजदूरों की जमकर सेवा की और सभी राज्यों से बेहतर परिणाम भी दिए हैं।देश की आजादी की 74वीं जयंती पर लखनऊ में सुरक्षा व्यवस्था काफी सख्त की गई है। इसकी पूर्व संध्या पर ही होटलों, लॉज, व्यवसायिक प्रतिष्ठानों, धार्मिक स्थलों, वीवीआइपी इमारतों, बस स्टेशन रेलवे स्टेशन फॉर मेडिकल संस्थानों के आसपास व अन्य भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में सघन सुरक्षा चेकिंग की गई।

पुलिस कमिश्नर की ओर से सभी जगहों पर कड़ी चौकसी बरतने के निर्देश दिए गए हैं। शहर में जगह-जगह बैरिकेडिंग कर वाहनों व संदिग्ध व्यक्तियों की तलाशी ली गई।राजधानी के सभी बार्डर क्षेत्रों पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई। सभी पुलिस कर्मियों को चप्पे-चप्पे पर पैनी निगाह रखने का निर्देश दिया गया है।

सुरक्षा पर कड़ी नजर रखने के लिए पुलिस के ड्रोन कैमरे भी शहर में विभिन्न स्थानों पर तैनात कर दिए गए हैं। राजधानी में बॉर्डर क्षेत्रों के साथ सभी वीआइपी स्थलों पर भी सुरक्षा का दायरा बढ़ा दिया गया है।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button