कारोबार

कोरोना महामारी के बीच इस जगह सोने की मची है लूट, आप ने उठाया लाभ

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच रोजगार पर दबाव और अर्थव्यवस्था में सुस्ती के बीच सोने में निवेश को लेकर निवेशकों में उत्साह और बढ़ गया है। इस साल सिर्फ पांच माह में सोने में और खासकर ई-गोल्ड में निवेश तीन गुना बढ़ा है। रि्जर्व बैंक और एसोसिएशन ऑफ म्यूचु्अल फंड इंडिया के आंकड़ों में यह बात सामने आई है। रिजर्व बैंक के छह सीरीज में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी किया है, जिसमें निवेशकों ने 10130 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

पिछले साल अप्रैल-अगस्त के बीच गोल्ड ईटीएफ में महज 75 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था। जबकि इसी अवधि में सॉवरेन गोल़्ड बॉन्ड में 5741 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था। निवेशकों को भी सोने ने निराश नहीं किया है। पिछले एक साल में सोने के दाम में 31 फीसदी से अधिक का इजाफा हुआ है। विशेषज्ञों का कहना है कि अर्थव्यवस्था में सुस्ती या उथल-पुथल की स्थिति में सोना सबसे सुरक्षित निवेश माना जाता है। साथ ही इसे जब चाहे बेचकर नकदी हासिल की जा सकती है। इसकी वजह से निवेशक इसे पसंद करते हैं।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button