उत्तर प्रदेशमुरादाबाद

औषधि विभाग ने 8 हज़ार नशीले इंजेक्शन किये बरामद, दो गिरफ्तार

मुरादाबाद। औषधि विभाग ने शहर के कोतवाली क्षेत्र में अवैध रूप से ई रिक्शा द्वारा ले जाई जा रही नशीले इंजेक्शन की भारी खेप बरामद किया है। औषधि विभाग को सूचना मिली थी कि कोतवाली क्षेत्र के गुलाल गली रेती स्ट्रीट में गुप्ता इंटरप्राइजेज के सामने एक ई रिक्शा में चार पेटी सैम्पल की नशीली दवा ले जाई जा रही है।
सूचना मिलते ही औषधि विभाग के औषधि निरिक्षक नरेश मोहन दीपक ने तत्काल कोतवाली पुलिस को जानकारी देते हुए पुलिस फ़ोर्स के साथ शुक्रवार रात मौके पर पहुंचे। जहां खड़े दो ई रिक्शा में रखी दवा की 4 पेटी के साथ दो लोगों को पकड़ लिया। पेटी खोल कर देखने पर पता चला कि उसमे 8000 पेंटालैब इंजेक्शन मौजूद है जो अवैध रुप से ले जाये जा रहे थे। वही पकड़े गए युवकों द्वारा कोई उचित जवाब नहीं दिया गया। जिसके बाद दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया  वहीं दवा को जाँँच के लिए भेज दिया गया है ।
बताया जाता है कि पेंटालैब इंजेक्शन असहनीय दर्द और शरीर मे टूटी हड्डी के उपचार में इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन कुछ नशेड़ियों ने इसे नशे के रूप में इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। हालांकि बताया जाता है कि इस इंजेक्शन की कीमत बाजार में बहुत अधिक नही है लेकिन नशेड़ी इसे नशे के रूप में इस्तेमाल करने के एवज में अच्छी कीमत देते है। यही वजह है कि इस इंजेक्शन को ब्लैक मार्केट में मनचाही कीमत पर नशेड़ियों को बेच कर लोग पैसा कमाने का धंधा कर रहे है ।
औषधि निरिक्षक नरेश मोहन दीपक के मुताबिक उन्हें सूचना मिली थी कि भारी मात्रा में नशीले इंजेक्शन को अवैध रूप से ले जाने की सूचना मिली थी। मौके से भारी मात्रा में इंजेक्शन के साथ सुभाष और राजेंद्र सैनी को हिरासत में लिया गया जहां उनसे दवा के बारे में पूछताछ की जा रही है। लेकिन अभीतक इस इंजेक्शन के बारे में उन्होने कोई जानकारी नही दी है की इसे वह कहा से ल रहे थे और कहा सप्लाई करने जा रहे थे । यह लगातार टीम को गुमराह कर रहे है । इनके पास से एक-एक एमएल के 8000 इंजेक्शन मिले है।
उन्होंने बताया कि इस इंजेक्शन का इस्तेमाल नशेड़ी नशे के रूप में करते है । माना जा रहा है कि नशेड़ियों को सप्लाई करने के लिए यह खेप अवैध रूप से ले जाई जा रही थी । फिलहाल दोनो युवकों को पूछताछ के लिए पुलिस को सौप दिया गया है ।
loading...
=>

Related Articles