Wednesday, September 30, 2020 at 3:08 AM

क्या करें अगर भींग जाए मोबाइल, कुछ काम की बात

नई दिल्ली। बारिश के मौसम में कॉलेज या ऑफिस आते जाते मोबाइल फोन भीग सकता है। ऐसे में कई बार हम समझ नहीं पाते कि क्या करें कि मोबाइल फोन भी बच जाए और आपको दिक्कत भी न हो। तो आइए आज आपको बताते हैं कि मॉनसून में फोन को भीगने से कैसे बचाएं और यदि भीग ही जाए तो क्या करें और क्या न करें। वैसे जरूरी नहीं है कि फोन मॉनसून में ही भीगे, वह किसी कारणवश पानी में भी गिर सकता है।

 

10 बातें जो मोबाइल की सुरक्षा में काम आ सकती हैं ।

कई बार हाथ भीगे होने के कारण भी फोन में पानी चला जाता है तो जब खुद को सुखा लें उसके बाद ही मोबाइल फोन का इस्तेमाल करें।

सिर भीगा हुआ हो तो जानकार सलाह देते हैं कि मोबाइल फोन का प्रयोग न करें। कान के पास पानी होगा ही, ऐसे में फोन में पानी घुसने और फोन के खऱाब होने जैसी दिक्कत आ सकती है।

आजकल बाजार में मोबाइल जिप पाउच मिल रहे हैं जिनकी कीमत 200 से 1500 रुपये तक है. यदि यह खऱीदना मुमकिन नहीं है तो किसी पॉलीपैक में भी रख सकते हैं. वैसे जिप पाउच एयर टाइट, वाटरप्रूफ होते हैं।

बारिश हो रही है और कॉल रिसीव कर लिया तो दिक्कत हो सकती है। बेहतर होगा कि इयरफोन का यूज करें. ब्लूटूथ का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

मोबाइल फोन में पानी चला ही जाए तो किसी भी हालत में न तो कॉल रिसीव करें और न ही कॉल डायल करें। सिग्नल कैच करने की कोशिश में स्पार्किंग की दिक्कत हो सकती है।

मोबाइल फोन जब तक पूरा एकदम सही तरीके से सूख न जाए, इसे ऑन न करिए। अंदर नमी बची रह सकती है।

मोबाइल फोन भीग ही गया है तो सबसे पहले फोन की बैटरी निकाल दें और सूखने के लिए रख दें। उसके बाद इसे ढंग से साफ कॉटन कपड़े से पोंछे।

एक पुरानी और कारगर तरकीब है कि मोबाइल फोन को भीगने पर पोंछने के बाद चावल से भरे डिब्बे के बीच रख दें। 12 घंटे रखा रहने दे।। या फिर एसी के पास जहां सीधे ठण्डी हवा लगें। फोन के भीतर की नमी गायब हो जाएगी।

अक्सर लोग कहते हैं कि सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करें लेकिन यह सही नहीं है। फोन में मौजूद मदर बोर्ड में दिक्कत आने के चांसेस हो सकते हैं।

भीगे मोबाइल फोन को लेकर ज्यादा जूझे नहीं। ज्यादा दिक्कत महसूस हो तो सीधा कंपनी के सर्विस सेंटर में जाएं।

loading...
Loading...