UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 2:57 AM

श्रद्धालुओं की भीड़ सिद्धि मनोकामनापूर्णी दुर्गा मंदिर में जुटी

अरवल। सर्व सिद्धि मनोकामनापूर्णी दुर्गा मंदिर का निर्माण वर्ष 2009 में तत्कालीन किजर थानाध्यक्ष प्रभात भूषण श्रीवास्तव के अथक प्रयास एवं आसपास के ग्रामीणों के सहयोग से कराया गया था। इस मंदिर में मां दुर्गा की शेर पर सवार भव्य प्रतिमा के साथ-साथ माता की पिडी भी स्थापित है। मुख्य द्वार पर दो बड़े-बड़े शेर की भी मूर्ति स्थापित की गई है। अपने स्थापना काल से ही इस मंदिर की भव्यता एवं लोगों की आस्था अधिक है। दुर्गा पूजा के अवसर पर नवरात्र के नौ दिनों तक खासकर महिला श्रद्धालुओं की भीड़ सुबह से ही लगी रहती है। यह हर दिन श्रद्धालु जुट रहे हैं।

 

मंदिर के प्रधान पुजारी रामा शंकर पाठक ने बताया कि यह दुर्गा मंदिर अपने स्थापना काल से ही काफी प्रसिद्ध रही है। भक्त यहां जो भी अर्जी लगाते हैं माता उनकी जरूर सुनती हैं। यहां प्रतिवर्ष नवमी तिथि को हवन पूर्णाहुति के बाद कुमारी पूजा की जाती है। मंदिर की स्थापना काल से जुड़े केतन कुमार, भरत भारती, राजा बाबू, पंकज कुमार, रोहन एवं अविनाश कुमार द्वारा मंदिर के प्रांगण की साफ-सफाई रोशनी पंडाल साज-सज्जा की व्यवस्था के साथ-साथ कन्याओं को खिलाने के अलावा सूजी का हलवा एवं पूरी का भंडारा किया जाता है। मंदिर प्रबंधन समिति के अध्यक्ष राजा बाबू ने बताया कि अन्य वर्ष की भांति इस वर्ष भी किजर खेल मैदान में विजयादशमी के दिन संध्या 5:00 बजे लंका दहन होगा।

पटना से आए कलाकार टुनटुन विश्वकर्मा की टीम द्वारा विशालकाय रावण कुंभकरण एवं मेघनाथ का पुतला बनाया जा रहा है। अध्यक्ष ने बताया कि कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन इस मंदिर में भी किया जा रहा है। मास्क लगा कर ही मंदिर में जाने की इजाजत है साथ ही डीजे नहीं बजाया जा रहा है। रात्रि में भक्ति भजन की भी प्रस्तुति बाहर से आए कलाकारों द्वारा की जाएगी।