UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 3:57 AM

बाडी बिल्डिग में भी अमरोहा के लाल ने विश्व चैंपियन बनकर विदेश में तिरंगा फहराया

अमरोहा। गांव मकनपुर निवासी शुभम गिल ने मिस्टर व‌र्ल्ड बाडी बिल्डिग चैंपियनशिप में ओपन व क्लासिक श्रेणी में अपना दबदबा कायम रखा तथा मिस्टर व‌र्ल्ड का खिताब अपने नाम किया। उनकी इस उपलब्धि ने केवल स्वजन ही नहीं बल्कि जिले के लोगों का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है। गांव में खुशी का माहौल है।

जोया से सटे गांव मकनपुर में रहने वाले किसान जगदीश सिंह के बेटे शुभम गिल को बाडी बिल्डिग का शौक था। इस शौक को जुनून बनाने वाले शुभम ने जोया व अमरोहा के कई जिम में परवान चढ़ाया। उनकी 10 साल की मेहनत यूक्रेन में रंग लाई। नौ व 10 अक्तूबर को यूक्रेन में हुई मिस्टर व‌र्ल्ड बाडी बिल्डिग चैंपियनशिप में उन्होंने भारत का प्रतिनिधित्व किया था। इस प्रतियोगिता में विश्व के 17 देश के 300 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था। 10 अक्तूबर को हुए फाइनल में शुभम ने प्रतियोगिता के मैंस ओपन व मैंस क्लासिक वर्ग में अपना दबदबा कायम रखा। उन्हें मिस्टर व‌र्ल्ड ओवरआल चैंपियन के खिताब से नवाजा गया। मंगलवार को यूक्रेन से भारत के लिए उड़ान भरने के बाद कतर पहुंचने पर शुभम गिल ने  फोन पर वार्ता की। इस उपलब्धि को माता-पिता व स्वजन का आशीर्वाद बताया। बोले कि मन में यही इच्छा थी कि 300 प्रतिभागियों को पछाड़ कर यूक्रेन में तिरंगा फहराना है। देश व तिरंगे का मान रखा, हमें उस पर गर्व : जगदीश पिता जगदीश सिंह ने बताया बुधवार सुबह 8 बजे तक उसका घर पहुंचने का कार्यक्रम है। गांव के लोग उन्हें व उनके कोच वाहिद अली को लेने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट के लिए गए हैं। शुभम ने विदेश में देश व तिरंगे का मान रखा है। हमें उस पर गर्व है। माता-पिता की आंखे छलकीं मिस्टर व‌र्ल्ड शुभम गिल के परिवार में पिता जगदीश सिंह के अलावा मां निर्दोष देवी व छोटा भाई रितिक चौधरी हैं।