Saturday, January 22, 2022 at 12:07 AM

महंगाई ने बिगाड़ा बजट…

मेरठ: सुबह के नाश्ते से लेकर दिनभर का खाना ही नहीं बल्कि शेविंग करना, नहाना और सजना संवरना भी महंगा हो गया है। डिस्ट्रीब्यूटर्स का कहना है कि नामी कंपनियां ना केवल उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी कर रही हैं बल्कि वजन भी घटा रही है।

ब्रेड, रस, मक्खन और दूध के दामों में बढ़ोतरी से नाश्ता महंगा हो गया है तो वहीं खाद्य, तेल, रिफाइंड, साबुन, सनस्क्रीन, शेविंग क्रीम, आफ्टर शेव आदि की कीमतों में भी इजाफा हुआ है। दिवाली के बाद से 5 से 10 फीसदी तक की बढ़ोतरी दामों में हो गई है। इसके अलावा पांच और 10 रुपये के उत्पादों का वजन भी पहले के मुकाबले कम हो गया है।

कीमत तो बढ़ी ही वजन भी हो गया कम

रस, बन, फेन के पैकेट पर कीमतें बढ़ गई है। नामी कंपनी का 5 रुपये में आने वाला बिस्किट अब वजन में कम हो गया है। ग्लूकोज बिस्किट का वजन 5 ग्राम घट गया। वाशिंग पाउडर और केक की कीमतों में 5 फीसदी वृद्धि हुई। ब्रांडेड कंपनी का 5 किलो आटा पैक अब 185 से बढ़कर 200 रुपये का हो गया है। खाद्य तेल का 200 ग्राम का पैक 50 रुपये में, एक लीटर 250 रुपये में है। 10 रुपये में आने वाली ब्रेड में पीस की संख्या कम हो गई है।

उपभोक्ताओं पर पड़ रही दोहरी मार

विनेश जैन, मंडल अध्यक्ष, फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया व्यापार मंडल के बताते हैं कि जहां पहले आमतौर पर बजट से पहले कीमतों में बढ़ोतरी होती थी तो वहीं अब ट्रेंड बदल गया है। कंपनियां मामूली बढ़ोतरी लगातार करती जा रही हैं। नामी कंपनी का 100 ग्राम का टूथपेस्ट जो दो महीने पहले महज 52 रुपये का था अब 58 का हो गया है। कंपनियों ने डिस्ट्रीब्यूटर और मॉल के लिए एक ही उत्पाद के अलग-अलग रेट जारी कर दिए हैं। इसका सीधा भार उपभोक्ता पर पड़ रहा है।