Saturday, November 27, 2021 at 2:50 AM

इंटरनेट सेवा जुड़ेंगे 810 गांव

भोजपुर। सभी गांवों में हाईस्पीड इंटरनेट लगाया जाएगा। जिले में 228 पंचायत है। जिसमें सभी पंचायतों में सरकार द्वारा इंटरनेट कनेक्शन से जोड़ने की कवायद की जा रही है। करीब 200 पंचायत में मशीन लग चुका है। पंचायत भवन तक लोग इंटरनेट का इस्तेमाल भी कर रहे हैं।

भोजपुर जिले में 1210 गांव हैं। जिसमें 400 गांव में इंटरनेट पहुंच चुका है। बिहार का 5वां जिला ऐसा बन गया है, जहां के सीएससी साथ गांव में इंटरनेट फाइबर केबल बिछा दिया गया है। इंटरनेट सेवा आरंभ कुछ गांव में हो गई है। जिसमें से 810 गांव को इंटरनेट से जोड़ने की कवायद जोर-शोर से की जा रही है। पहले चरण में अस्पताल, थाना, आंगनबाड़ी केंद्र, स्कूल, पंचायत भवन, पोस्ट आफिस सहित कई सरकारी भवन पर लगाई जा रही है। इससे सरकारी अधिकारी व कर्मी आनलाइन काम करने लगेंगे। इंटरनेट फाइबर योजना का आम जनता तक लाभ उठा सकेंगे। इस योजना की शुरुआत सितंबर माह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी। सभी गांव में मार्च 2022 तक काम पूरा करने का लक्ष्य रखा है। लेकिन इस कोरोना महामारी के कारण काम थोड़ा धीरे चल रहा है। कामन सर्विस सेंटर बेहतर काम करके भोजपुर जिला को बिहार के 5वें पायदान पर ला दिया है।

इंटरनेट से क्या-क्या होगा लाभ

इंटरनेट से गांव के लोगों को एक आपस में जोड़ने के लिए काम किया जा रहा है। जिसमें ई कामर्स, ई शिक्षा, ई फार्मेसी, काल सेंटर, आनलाइन बेंकिग, आनलाइन शापिग, कालेज स्कूल में आनलाइन फार्म भरना आदि यह कार्य गांव के लोग घर बैठे कर सकेंगे। सीएससी के द्वारा इस केंद्र के विकास में माडल साबित गांव भी होंगे, आने वाले समय में यहां जरूरत के सभी सामान भी मिलेने लगेगा। इसके संचालक मिनी बैंक के आलावा बीमा कृषि अनुदान, पंजीकरण सर्टिफिकेट बनाने व पंजीकरण का काम कर सकेंगे।